SC राफेल डील खरीद मामले में पुनर्विचार याचिका पर करेगा सुनवाई

0
101
google image

सुप्रीम कोर्ट राफेल डील की खरीद के मामले में 6 मार्च को पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई करेगा. साथ ही माना जा रह है कि कोर्ट इसी दिन अपने फैसले के संशोधन से संबंधित मामले की भी सुनवाई करेगा. सुप्रीम कोर्ट 14 दिसंबर को दिए गए अपने फैसले के खिलाफ पुनर्विचार करेगा. 14 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अपने इससे पहले फैसाला दिया था कि,’इस प्रक्रिया पर संदेह करने की कोई ज़रूरत नहीं है. हम सरकार को 126 विमान खरीदने पर बाध्य नहीं कर सकते. साथ ही इस मामले के सभी पहलुओं की जांच कोर्ट की देखरेख में कराना सही नहीं होगा.’

फैसले में संशोधन

सरकार ने राफेल डील पर आए फैसले में संशोधन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक और अर्जी दायर की थी. इसमें कहा गया है कि कोर्ट ने अपने फैसले में कैग और पीएसी का जिक्र किया था, टाइपिंग में हुई कुछ गलतियों के कारण उसकी गलत व्याख्या की जा रही है. इसलिए कोर्ट से अपील की जाती है कि अपने फैसले में कैग रिपोर्ट और पीएसी को दोबारा से स्पष्ट करें.

मोदी सरकार ने कोर्ट को बताया था कि राफेल की कीमत और बाकी डिटेल सीएजी और पीएसी के साथ साझा किए जा चुके हैं. सीएजी और पीएससी में जानकारियों की समीक्षा की गई थी. जबकि पीएसी के मेंबर और कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा था कि पीएसी को ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली है.

इसके बाद सरकार ने फैसले में संशोधन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक अर्जी दायर की थी. और कोर्ट ने फैसले को दोबारा से स्पष्ट करने के लिए कहा था.

 राफेल पर द हिंदू की रिपोर्ट

गौरतलब हो, राफेल मामले पर नए तथ्य सामने आने के बाद केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगे रहे है कि सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में झूठ बोला है. द हिंदू ने राफेल मामले में अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि राफेल विमान को खरीदने के लिए सीधे पीएमओ फ्रांस के काउंटरपार्ट से बातचीत कर रहे थे. जबकि सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में बताया था कि राफेल डील खरीदने के लिए 7 लोगों की एक नेगोशिएशन टीम बनी थी, जिसमें वायुसेना के अधिकारी शामिल थे. हांलांकि सरकार ने बाद में द हिंदू की रिपोर्ट को खारिज कर दिया था.

वहीं द हिंदू ने अपनी दूसरी रिपोर्ट में बताया था कि सरकार ने राफेल विमान को खरीदने के लिए भ्रष्टाचार से संबंधित कई नियम बदले जिससे यह डील कमजोर हुई. वहीं राफेल विमान की खरीद को लेकर जो सीएजी की रिपोर्ट आई है उसमें भी विमानों की खरीद का कोई आंकड़ नहीं दिया गया है.राफेल डील मामले में द हिंदू की रिपोर्ट आने के बाज सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की गई थी.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मोदी सरकार पर आरोप लगा रहें है कि राफेल विमान की खरीद में मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार किया है. राहुल गांधी का आरोप है कि मोदी सरकार ने राफेल का सौदा एचएएल से लेकर अनिल अंबानी की कंपनी को दे दिया. इससे अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ का फायद हुआ है.

दिल्ली में शिक्षा क्रांति की सूत्रधार आतिशी मार्लेना

बिहार – पीएम मोदी की संकल्प रैली में होगी एनडीए के लोकसभा उम्मीदवारों की घोषणा ?

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की 6 लोकसभा सीटों पर उम्मीदवार किए घोषित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here