हरियाणा – आप और जजपा की राहें हुई जुदा, सीटों के बंटवारे पर नहीं बन पाई सहमति

0
102
google image

हरियाणा में आप और जजपा की राहे अब जुदा हो गई है. हरियाणा के आप प्रदेश अध्यक्ष ने ट्वीट कर इस बाबत जानकारी ही है. दोनों दलों के बीच लोकसभा चुनावों और आगामी विधानसभा चुनावों के लिए सीट बंटवारे पर सहमती नहीं बन पाई है. इससे पहले दोनों दलों ने जींद विधानसभा का उपचुनाव साथ मिलकर लड़ा था. जिसके बाद से ही माना जा रहा था कि दोनों दल लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ेगें.

जननायक जनता पार्टी के नेता दिग्विजय सिंह चौटाला ने इनेलो से निकाले जाने के बाद अपनी एक अलग पार्टी बनाई थी. दिग्विजय सिंह चौटाला ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर जींद विधानसभा का उपचुनाव लड़ा था. वहीं आप ने दिग्विजय सिंह चौटाला का समर्थन किया था.

जजपा और आप के बीच गठबंधन न होने का कारण सीटों को लेकर दोनों दलों के बीच एक राय नहीं बना पाना है. आप हरियाणा प्रदेश ईकाई के अध्यक्ष नवीन जयहिंद के ट्वीट किया

हरियाणा में आप 10 लोकसभा और 90 विधानसभा पर अपने दम पर चुनाव लड़ेगी. जजपा  के साथ गठबंधन की बातचीत समाप्त. जजपा हमें 10 (लोकसभा सीट) में से केवल 2 सीट दे रही है और बदले में दिल्ली में एक सीट माँग रही है. पता नहीं कौन सी दुनिया में है. इससे केवल बीजेपी को ही फ़ायदा होगा. काफ़ी समझाया पर जजपा नहीं मान रही.

 

वहीं मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक आप पांच लोकसभा और 40 विधानसभा सीट की मांग कर रही थी. जिसको देने के लिए जजपा के नेता तैयार नहीं हुए.

माना जा रहा था कि अगर दोनों पार्टी एक साथ चुनाव लड़ती तो ऐसे में सीधे तौर पर विपक्षी पार्टियों को टक्कर दे पाती.साथ ही दोनों पार्टियों को भी फायदा होता. माना जा रहा था कि जजपा और आप आने वाले चुनावों में वोटकटवा पार्टी की तरह काम करेंगी. ऐसा करके वो दूसरी पार्टियों के लिए सिरदर्द बनेंगी.

दिल्ली में शिक्षा क्रांति की सूत्रधार आतिशी मार्लेना

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की 6 लोकसभा सीटों पर उम्मीदवार किए घोषित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here