‘बालाकोट एयर स्ट्राइक के दौरान जैश के कैंप में सक्रिय थे 300 से अधिक मोबाईल’

0
164
Google Image

भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान में घुसकर जो एयर स्ट्राइक की थी उसमें कितने आतंकी मारे गए इसको लेकर सियासत जारी है. भारतीय मीडिया के द्वारा कहा जा रहा है कि उसमें 300 से अधिक आतंकी मारे गए है. वहीं अब न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि भारतीय वायु सेना की इस कार्रवाई में 300 के करीब आतंकियों के मारे जाने के पुख्ता सबूत है.

एएनआई की माने तो एनटीआरओ ने सेना को बालाकोट में जैश के कैंप में 300 मोबाईल फोन के एक्टिव होने की सूचनी दी थी. एनटीआरओ एयर स्ट्राइक के होने से कई दिन पहले से ही बालाकोट के जैश के ठीकानों पर नजर बनाए हुए था. जिसके बाद उसने यह जानकारी भारतीय वायु सेना के साथ साझा की थी. वहीं भारत की अन्य खुफिया एजेंसियों ने भी एनटीआरओ के इस बात पर मुहर लगाई थी. और उनका भी मानना था कि कैंप में 300 से अधिक फोन एक्टिव थे जिनको लगातार इस्तेमाल किया जा रहा था.

भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए इस बारे में भारत सरकार की तरफ से कोई आधिकारिक आकड़े सामने नहीं आए है. लेकिन विभिन्न मीडिया रिपोर्टस में दावा किया जा रहा है कि सेना की कार्रवाई में 300 से अधिक आतंकी मारे गए है.

क्या है एनटीआरओ 

एनटीआरओ भारत की एक टेक्निकल एजेंसी है. इसकी स्थापना 2004 में की गई थी. बताया जाता है कि एनटीआरओ के पास तीन ड्रोन है जिसके दम पर वो नजर बनाए रखती है. एनटीआरओ सीधे तौर पर एनएसए को रिपोर्ट करती है. और प्रधानमंत्री के लिए सुरक्षा सलाहाकर को तौर पर भी काम करती है. कारगिर युद्द के समय भारत को टेक्निकल इंटेलिजेंस के लिए रूस का सहारा लेना पड़ा था. जिसके बाद साल 2001 में भारत के पूर्व राष्ट्रपति ए पी जे अब्दुल कलाम भारत की टेक्निकल एजेंसी का सपना देखा था, उसके बाद ही एनटीआरओ की स्थापना हुई थी.

गौरतलब हो, पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे जिसके बाद भारतीय वायु सेना ने हमले का बदला लेने के लिए पाकिस्तान की सीमा में घुसकर जैश के आतंकी ठिकानों पर बमबारी की थी.

अमित शाह बोले – एयर स्ट्राइक में मारे 250 आतंकी, चिदंबरम ने पूछा किसने बताई संख्या

अभिनंदन की मेडिकल रिपोर्ट से हुआ खुलासा, टूटी है पसली, पीठ में लगी है अंदरूनी चोट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here