Air Strike के सबूत मांगने पर कांग्रेस नेता ने दिया पार्टी से इस्तीफा, बोले – लोग पाकिस्तान का एजेंट समझने लगे थे

0
310
Google Image

भारतीय वायु सेना के द्वारा पाकिस्तान में घुसकर जैश के ठिकानों पर बम बरसाए गए. वायु सेना की इस कार्रवाई में कितने आंतकी मरे इस पर देश में सियासत लगातार जारी है. विपक्षी पार्टियों के द्वारा लगातार सत्त पक्ष से सवाल पूछा जा रहा है कि सेना की इस कार्रवाई में कितने आतंकी मारे गए.

आम चुवानों से पहले बिहार कांग्रेस के प्रवक्ता विनोद शर्मा ने इस्तीफा दे दिया है. विनोद शर्मा ने कांग्रेस के द्वारा लगातार एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने को लेकर इस्तीफा दिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि, लोग पाकिस्तान का एजेंट समझने लगे थे. जिसके कारण उन्होंने इस्तीफा दिया है.

विनोद शर्मा ने कहा कि, “कांग्रेस पार्टी सेना से पाकिस्तान के बालाकोट में मारे गए आतंकियों की सूची मांगती रही. यह निश्चित रूप से किसी भी देश के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है कि कोई भी राजनीतिक पार्टी ऐसी बात करे. यह तय है कि सेना ने जो बम गिराए हैं, उससे 70 फीट गहरे गड्ढे होते हैं. 70 फीट गड्ढा और वहां आग का जो गोला था, ऐसे में कोई आतंकी कैसे बचेगा? यह सोचने वाली बात है. लेकिन बार-बार इस तरह की बातें उठाकर राजनीति करना, मुझे पसंद नहीं आया. मैं पिछले 30 वर्षों से पार्टी में काम कर रहा था. इस वजह से काफी दुखी मन से मैंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया. पार्टीहित से ज्यादा राष्ट्रहित जरूरी है, इसलिए मैंने ऐसा किया.”

कांग्रेस प्रवक्ता के इस्तीफे के बाद भाजपा ने ट्वीट कर कहा, “एयर स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाली कांग्रेस के बिहार प्रदेश प्रवक्ता विनोद शर्मा ने पद और पार्टी से दिया त्यागपत्र। कहा पाकिस्तान का एजेंट के रूप में कांग्रेस को लोग देखने लगे हैं… ऐसे में इस पार्टी में रहना मुश्किल.”

पुलवामा बदला- 12 मिराज, 1000 किलो बारूद, 21 मिनट और आतंकियों का खेल खत्म

‘बालाकोट एयर स्ट्राइक के दौरान जैश के कैंप में सक्रिय थे 300 से अधिक मोबाईल’

अभिनन्दन वतन वापसी – कहानी बताती है कि कभी गीदड़ शेर का शिकार नहीं करते2019

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here