जयपुर पुलिस ने भारत बंद को लेकर उठाया बड़ा कदममोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद, धारा-144 लागू

0
247

सवर्ण समाज की ओर से मंगलवार को भारत बंद के आह्वान पर पुलिस ने पूरी तरह से कमर कस ली है।

जयपुर। सवर्ण समाज की ओर से मंगलवार को भारत बंद के आह्वान पर पुलिस ने पूरी तरह से कमर कस ली है। राजधानी में संवेदनशीलता को देखते हुए सोमवार रात 12 बजे से मंगलवार शाम 5 बजे तक मोबाइल सेवा बंद करने के साथ ही धारा-144 लागू कर दी गई है। मंगलवार को धरने-प्रदर्शन और रैलियों पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है।

फोर्स ने संभाला मोर्चाअफवाहों से बचाने और शांति बनाए रखने की पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल ने अपील की है। किसी भी प्रकार के हालातों को संभालने के लिए पुलिस मुख्यालय से रैपिट एक्शनफोर्स, पैरामिलैक्ट्री, आरएसी, बीएसएफ व पुलिस फोर्स के जवानों को मोर्चा संभलाया गया है। कानून हाथ में लेने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के भी निर्देश दिए है। जबरन दुकान बंद कराने आने वाले लोगों पर भी तुरंत कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए पुलिस कंट्रोल नम्बर 100 व 2388436, 437, 438 पर फोन कर किसी भी प्रकार की गतिविधी की सूचना दी जा सकती है।

एडीजी एनआरके रेड्डी ने बताया कि प्रदेशभर से थानों से मिली रिपोर्ट में 70 प्रतिशत लोगों ने बंद का समर्थन नहीं किया और ना ही सोशल मीडिया पर मैसेज भेजना बताया। जबकि कुछ जगह व्यापारियों ने स्वेच्छा से 2 घंटे का बंद रखने की सहमती दी है। लेकिन इस बार बिना परमिशन के रैली निकालना, उत्पात मचाने वालों के खिलाफ सख्ती से निपटने के निर्देश भी दिए हैं। अतिरिक्त सुरक्षा बल भी जिलों को दिया गया है।

जवानों ने किया फ्लैग मार्च
सुरक्षा को देखते हुए सोमवार शाम को परकोटा सहित अन्य बाजारों में फ्लैग मार्च किया। आरएसी, बीएसएफ और आरएएफ के जवानों ने फ्लैग मार्च किया। बीएसएफ और आरएएफ के जवानों ने यागदार से छोटी चौपड़, बड़ी चौपड़ होते हुए गलता गेट पहुंचे। और वहां से जवान वाहनों से शास्त्री नगर की ओर रवाना हो गए। वहीं मंगलवार को भी शहर भर में जवान किसी भी उपद्रव से निबटने के लिए जवान तैनात रहेंगे।

सोशल मीडिया से बना रखा है भय
पुलिस मुख्यालय ने कहा कि सोशल मीडिया पर बंद का मैसेज वायरल कर आमजन में एक भय बना दिया गया है। जिला एसपी को बोला गया है कि अचानक भीड़ के आ जाने और उत्पात मचाने पर उन्हें गिरफ्तार कर सख्ती से कार्रवाई करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here