क्या है डिस्लेक्सिया, जिसके बहाने मोदी ने राहुल को घेरा

0
89
Google Image

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा डिस्लेक्सिया समस्या के बहाने कांग्रेस अधय्क्ष राहुल गांधी को घेरने पर कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने आलोचना की है.

उल्लेखनीय हो, एक कार्यक्रम में पीएम मोदी से एक लड़की डिस्लेक्सिया नामक समस्या से पीडित लोगों की रचनात्मकता का ज़िक्र करते हुए उनके लिए अपने एक प्रोजेक्ट के बारे में बात कर रही थी. इस दौरान पीएम मोदी ने बच्ची को बीच में टोकते हुए कहा कि क्या यह 40 से 50 साल के बच्चों के लिए भी होगा. और इसके बाद पीएम मोदी के साथ साथ हांल में मौजूद सभी लोग हंसने लगे. लड़की ने पीएम मोदी को जवाब देते हुए कहा कि हां सर, लाभ पहुंचाएगी. इस पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा तब तो उसकी मां बहुत खुश होगी. माना जा रहा है कि पीएम मोदी ने राहुल गांधी के लिए ऐसा कहा है.

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर पीएम मोदी के इस मजाक को असंवेदनशीलता बताते हुए उन्हें पत्थरदिल बताया है.  सिद्धारमैया ने ट्वीट किया,

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डिस्लेक्सिया पीड़ित लोगों के नाम पर राजनीतिक मजाक कर रहे हैं. आपको शर्म आनी चाहिए.! आप इससे और नीचे नहीं गिर सकते. आपके अंदर की असंवेदनशीलता किसी भी नदी में डुबकी लगाने से नहीं धुल सकती. डिस्लेक्सिया पीड़ित लोग पढ़ने में भले ही धीरे हो,  लेकिन आपकी तरह पत्थरदिल नहीं हैं.

क्या होता है डिस्लेक्सिया

डिस्लेक्सिया से पीड़ित बच्चों को पढ़ने लिखने में परेशानी होती है. डिस्लेक्सिया से पीड़ित लोग अक्षर नहीं पहचान पाते. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि दिमाग शब्दों और अक्षरों को मिला देता है. डिस्लेक्सिया से पीड़ित बच्चों, बाकी बच्चों की तुलना में, जल्दी से नहीं सीख पाते.लेकिन इसका मतलब यह नहीं होता कि ऐसे बच्चे दिमागी तौर पर कमजोर होते है. क्योंकि बच्चे अक्षर पहचान नहीं बाते इसलिए बच्चे अच्छी तरह से चीजों में फर्क नहीं कर पाते. महान विज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन भी डिस्लेक्सिया से पीड़ित थे. आमिर खान की फिल्म तारें जमी पर इसी को दर्शाती है, जिसमें ईशान नाम का बालक इसी समस्या से पीड़ित होता है.

अमित शाह बोले – एयर स्ट्राइक में मारे 250 आतंकी, चिदंबरम ने पूछा किसने बताई संख्या

दिल्ली में शिक्षा क्रांति की सूत्रधार आतिशी मार्लेना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here